उत्तर प्रदेश में देवरिया जिले की सदर सीट से भाजपा विधायक जन्मेजय सिंह का हृदयाघात से निधन हो गया. वह 75 वर्ष के थे. दिवंगत विधायक को श्रद्धांजलि देने के बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गयी.

सिंह को बृहस्पतिवार रात तबीयत खराब होने पर सिविल अस्पताल ले जाया गया था. इसके बाद रात दस बजे हालत बिगड़ने पर उन्हें लोहिया संस्थान रेफर कर दिया गया.

लोहिया संस्थान के प्रवक्ता और चिकित्सा अधीक्षक डॉ. विक्रम सिंह के मुताबिक पेस मेकर लगाने के दौरान उनकी मत्यु हो गई. सिविल अस्पताल में उनकी जांच की गई थी जिसमें उनमें कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई थी.

सिंह के पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि उनका अंतिम संस्कार गोरखपुर में किया जाएगा . उनका पार्थिव शरीर देवरिया स्थित आवास पर ले जाया गया है . सिंह के तीन पुत्र और चार पुत्रियां हैं .

इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने विधायक के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है.

योगी ने कहा- जनता ने एक सच्चा हितैषी खो दिया

योगी ने कहा कि सिंह एक समर्पित जन प्रतिनिधि थे. वह हमेशा अपने क्षेत्र के विकास के लिए तत्पर रहते थे. समाज के गरीब व कमजोर वर्गों के हितों के प्रति वह अत्यंत संवेदनशील थे. उन्होंने कहा कि सिंह के निधन से पार्टी ने एक समर्पित कार्यकर्ता तथा जनता ने अपना एक सच्चा हितैषी खो दिया है.

मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए सिंह के शोक संतप्त परिजन के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है.

अखिलेश ने भी व्यक्त किया शोक 

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ''देवरिया सदर सीट से भाजपा विधायक जन्मेजय सिंह जी का निधन अत्यंत दुखद! दिवंगत आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिवार को दुख सहन करने की शक्ति दे भगवान. ''

उत्तर प्रदेश विधानसभा में दिवंगत विधायक को श्रद्धांजलि दी गई और उसके बाद अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी.