उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. उन्होंने मंगलवार को कोरोना टेस्ट करवाया था, जिसके बाद बुधवार को रिपोर्ट आई है, जिसमें वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके बाद उन्होंने खुद को सेल्फ आइसोलेट कर लिया है. इस बात की जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी है.

यह भी पढ़ेंः सपा प्रमुख अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव, बीजेपी सरकार पर लगाए ये आरोप

सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा, शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने कोविड की जांच कराई और मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मैं सेल्फ आइसोलेशन में हूं और चिकित्सकों के परामर्श का पूर्णतः पालन कर रहा हूं. सभी कार्य वर्चुअली संपादित कर रहा हूं.

COVID surge: UP minister's 'confidential' letter has questions for Yogi Adityanath

यह भी पढ़ेंः COVID-19 वैक्सीनेशन कराने वालों को FD पर ज्यादा Interest, बैंक दे रही स्पेशल ऑफर

उन्होंने कहा, प्रदेश सरकार की सभी गतिविधियां सामान्य रूप से संचालित हो रही हैं. इस बीच जो लोग भी मेरे संपर्क में आएं हैं वह अपनी जांच अवश्य करा लें और एहतियात बरतें.

यह भी पढ़ेंः देश में COVID-19 का विस्फोट! 24 घंटे में 1.84 लाख नए मामले, 1 हजार से ज्यादा मौत

इससे पहले उन्होंने बताया था कि, मेरे कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना संक्रमित हुए हैं. यह अधिकारी मेरे संपर्क में रहे हैं. अंतः मैंने एहतियातय अपने को आइसोलेट कर लिया है. सभी काम वर्जुअली शुरू कर रहा हूं.

आपको बता दें 5 अप्रैल को योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली थी.

यह भी पढेंः महाराष्ट्र में Lockdown नहीं, लेकिन 14 अप्रैल से कड़े प्रतिबंधों के साथ धारा 144 लागू

आपको बता दें, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव भी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं. वह भी अपने घर में आइसोलेट हैं और उनका इलाज चल रहा है. हालांकि, उन्होंने सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए ट्वीट किया था, उप्र में कोरोना से जो हाहाकार मचा है उसके लिए भाजपा सरकार को जवाब देना होगा कि उसने कोरोना पर नियंत्रण पाने का झूठा ढिंढोरा क्यों पीटा. टीका, टेस्ट, डॉक्टर, बेड, एंबुलेंस की कमी; टेस्ट रिपोर्ट में देरी व दवाई की कालाबाज़ारी पर भाजपा सरकार चुप क्यों है.