उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने (Uttarakhand flood) से आई तबाही में मरने वालों की संख्या में दो और लोगों का इजाफा हुआ है. उत्तराखंड के DGP अशोक कुमार ने बताया है कि चमोली के तपोवन के मेन टनल से दो शव बरामद हुए हैं. शव मिलने के बाद सर्च ऑपरेशन की गति को और बढ़ा दिया गया है. इस त्रासदी में जान गंवाने वालों की संख्या 40 हुई. बता दें कि 30 से अधिक लोगों के तपोवन टनल में फंसे होने की जानकारी के बाद 7 फरवरी से सर्च ऑपरेशन जारी है. 

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा, "तपोवन (चमोली में) में मेन टनल के किनारे से दो शव बरामद किए गए हैं, जहां पर 7 फरवरी से बचाव अभियान चल रहा था. उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ के जवान शव निकाल रहे हैं."

चमोली की जिलाधिकारी स्वाति भदोरिया ने कहा, "चमोली के तपोवन में आज टनल से दो शवों की बरामदगी के बाद सर्च और रेस्क्यू ऑपरेशन तेज कर दिया गया है." 

पिछले रविवार को अचानक आई बाढ़ के बाद टनल में 30 से अधिक लोगों के फंसे होने की आशंका है.

ये भी पढ़ें: Indian Railways ट्रेन टिकट की बुकिंग पर 2000 रुपये तक का कैशबैक! जानें क्या है तरीका

एनटीपीसी परियोजना के महाप्रबंधक आर पी अहिरवाल ने शनिवार को बताया, ‘‘सिल्ट फ्लशिंग टनल (एसएफटी) में शुक्रवार रात 75 मिमी व्यास का सुराख किया गया था, लेकिन अब इसे 300 मिमी तक चौड़ा किया जा रहा है ताकि गाद से भरी सुरंग के अंदर उस स्थान तक कैमरा और पानी बाहर निकालने वाला पाइप पहुंच सके जहां लोगों के फंसे होने की आशंका है."

नटीपीसी अधिकारी ने शनिवार को बताया कि धौलीगंगा के प्रवाह को बहाल करने का कार्य भारी मशीनों के जरिए शुरू किया जा चुका है. प्रभावित इलाकों से अब तक 38 शव बरामद किए गए हैं जबकि 166 अभी भी लापता हैं. टनल से दो शव मिलने के बाद अब मरने वालों की कुल संख्या 40 हो गई है. 

ये भी पढ़ें: Indian Railways ने बताया कब सामान्य होगा सभी यात्री ट्रेनों का संचालन