नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) इलेक्ट्रॉनिक सामान बनाने वाली कंपनी वी-गार्ड इंडस्ट्रीज ने बुधवार को कहा कि 31 मार्च को समाप्त चौथी तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ दोगुना होकर 68.38 करोड़ रुपए हो गया।

वी-गार्ड ने एक नियामकीय सूचना में कहा कि पिछले वित्तीय वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी ने 32.23 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ दर्ज किया था।

वित्त वर्ष 2020- 21 की जनवरी-मार्च 2021 तिमाही में कंपनी ने 58.04 प्रतिशत की वृद्धि के साथ कारोबार से 855.19 करोड़ रुपए का राजस्व हासिल किया जबकि जनवरी-मार्च 2020 तिमाही में यह 541.13 करोड़ रुपए रहा था।

वी-गार्ड इंडस्ट्रीज के प्रबंध निदेशक मिथुन के चित्तिलाप्पली ने कहा, 'तीसरी तिमाही में मिली वृद्धि की रफ्तार जारी रहने के साथ चौथी तिमाही में कारोबार का प्रदर्शन मजबूत रहा। हम उभरते वर्गों सहित सभी वर्गों में व्यापक वृद्धि हासिल करने में सफल रहे।'

वित्तीय वर्ष 2020-21 की आखिरी तिमाही में कंपनी का कुल व्यय वित्तीय वर्ष 2019-20 की आखिरी तिमाही के 503.90 करोड़ रुपए से 50.7 प्रतिशत बढ़कर 759.36 करोड़ रुपए हो गया।

पूरे वित्तीय वर्ष 2020-21 में कंपनी ने 7.24 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 201.89 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित किया। इससे पिछले वर्ष में यह 188.25 करोड़ रुपए था।

वर्ष 2020-21 में कंपनी का कारोबार से मिलने वाला राजस्व 8.72 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2,721.23 करोड़ रुपए हो गया। वर्ष 2019-20 में यह 2,502.94 करोड़ रुपए था।

इसी बीच कोच्चि की कंपनी ने कहा कि बुधवार को हुई उसके निदेशक मंडल की बैठक में वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए एक रुपए के प्रत्येक इक्विटी शेयर पर 1.20 रुपए का अंतिम लाभांश देने की सिफारिश की गयी है।

भाषा

प्रणव महाबीर

महाबीर