उत्तर प्रदेश का गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया है. इसे लेकर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि कई लोगों ने ऐसी आशंका जताई थी कि दुबे मुठभेड़ में मारा जाएगा. उन्होंने लिखा कि भाजपा शासन में ‘उत्तर प्रदेश’ अब ‘अपराध प्रदेश’ बन गया है. विकास दुबे संगठित अपराध का एक मोहरा था. उस संगठित अपराध के सरगना असल में हैं कौन? विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अनेकों सवाल सार्वजनिक जेहन में खड़े हो गए हैं, जिनका जवाब आदित्य नाथ सरकार को देना होगा.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ विकास दुबे मुठभेड़ में मारा गया. कई लोगों ने पहले ही ये आशंका जताई थी, लेकिन अनेकों सवाल छूट गए.’’ सुरजेवाला ने सवाल किया, ‘‘अगर उसे भागना ही था, तो उसने उज्जैन में आत्मसमर्पण ही क्यों किया? उस अपराधी के पास क्या राज थे जो सत्ता-शासन से गठजोड़ को उजागर करते? पिछले 10 दिनों की कॉल डिटेल जारी क्यों नहीं की जाए?’’

बता दें कि विकास दुबे पर 8 पुलिसवालों की हत्या का आरोप था. गुरुवार को उसकी मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तारी हुई थी. इसके बाद यूपी एसटीएफ उसे लेकर कानपुर जा रही थी कि रास्ते में गाड़ी पलटने के बाद विकास ने भागने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस मुठभेड़ में वह मारा गया.