उत्तर प्रदेश का गैंगस्टर विकास दुबे मुठभेड़ में मारा गया है. PTI के मुताबिक- पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है. विकास को मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स कानपुर पहुंच चुकी थी कि बारा के पास एसटीएफ की गाड़ी पलट गई. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि विकास ने भागने की कोशिश की और इसी के चलते मुठभेड़ में वह मारा गया. 

कानपुर एडीजी जेएन सिंह ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस और एसटीएफ की गाड़ियां विकास को उज्जैन से ला आ रही थी, तभी अचानक एक गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई. उसमें बैठे विकास दुबे ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस मुठभेड़ हुई और वह घायल हो गया. सिंह ने बताया कि हादसे के बाद दुबे ने एक एसटीएफकर्मी की पिस्तौल छीन ली और भागने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने उसे घेर लिया और दोनों तरफ से हुई.उन्होंने बताया कि विकास को तुरंत हैलट अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इस दुर्घटना में कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए.

बता दें कि विकास दुबे को गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन से हिरासत में लिया गया था. वह उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर पहुंचा था, वहीं से पलिस ने उसे अपने कब्जे में लिया. वहीं, उज्जैन से सीधे उसे कानपुर भेजा गया था. एसटीएफ की टीम उसे गुरुवार रात को ही कानपुर के लिए रवाना हुई थी.

गौरतलब है कि विकास दुबे ने कानपुर एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी और वह वहां से फरार हो गया था. विकास दुबे पर पहले से भी हत्या, अपहरण और लूट जैसे 60 से अधिक मामले दर्ज हैं.