गडांस्क (पोलैंड), 27 मई (एपी) विल्लारीयाल ने रोमांच से परिपूर्ण पेनल्टी शूटआउट में मैनचेस्टर यूनाईटेड को 11—10 से हराकर यूरोपा लीग फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब जीता।

यूनाईटेड के गोलकीपर डेविड डि जिया पेनल्टी शूटआउट में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये। वह वि​ल्लारीयाल के किसी भी खिलाड़ी का शॉट नहीं रोक सके और आखिर में गोल करने में भी नाकाम रहे।

दोनों टीमें नियमित ​समय और अतिरिक्त समय के बाद 1—1 से बराबरी पर थी जिसके बाद शूटआउट का सहारा लिया गया जो लंबा खिंच गया। आखिर में दोनों टीमों के गोलकीपरों को पेनल्टी लेने के लिये आना पड़ा।

विल्लारीयाल के गोलकीपर गेरोनिमो रूली इस पर गोल करने में सफल रहे। इसके बाद रूली ने डि​ जिया का कमजोर शॉट रोक दिया। गोल बचाने के ​बाद रूली मैदान पर लेट गये और सारी टीम उनके पास पहुंच गयी।

स्पेन के क्लब विल्लारीयाल ने अपने 98 साल के इतिहास में पहली बार कोई बड़ी ट्राफी जीती। यही नहीं उसने फाइनल में यूरोपीय फुटबॉल के शीर्ष क्लब को हराकर यह खिताब हासिल किया।

इससे उसने अगले सत्र के लिये चैंपियन्स लीग में भी जगह बनायी जबकि वह स्पेनिश लीग ला लिगा में सातवें स्थान पर रहा था। विल्लारीयाल के कोच उनाइ इमरी का यह चौथा यूरोपा लीग खिताब है। इससे पहले उन्होंने 2014 से 2016 तक सेविला का कोच रहते हुए यह खिताब जीता था।

नियमित खेल में गेर्राड मोरेनो ने 29वें मिनट में विल्लारीयाल को बढ़त दिला दी थी। मैनचेस्टर यूनाईटेड की तरफ से ​एडिसन कवानी ने 55वें मिनट में बराबरी का गोल दागा था।