कोलकाता, 25 मई (भाषा) पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में विश्व भारती विश्वविद्यालय ने शांतिनिकेतन में परिसर क्षेत्र से ‘‘अनधिकृत’’ बाजार को हटाने में बोलपुर नगर निगम से सहयोग मांगा है।

स्थानीय निकाय संस्था के प्रशासक बोर्ड की नवनियुक्त अध्यक्ष को बधाई देते हुए विश्वविद्यालय के कार्यवाहक रजिस्ट्रार ने उन्हें सोमवार को पत्र लिखकर यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि आश्रम क्षेत्र के ‘‘पठन-पाठन के माहौल’’ को सुरक्षित रखने के लिए विश्वविद्यालय परिसर से ‘‘अनधिकृत बाजार’’ को हटाया जाये।

पत्र में कहा गया है, ‘‘यह न केवल विश्व-भारती आश्रम क्षेत्र के पठन-पाठन के माहौल की सुरक्षा के लिए जरूरी है बल्कि दुनिया भर से शांतिनिकेतन को देखने आने वाले पर्यटकों को बेहतर बुनियादी ढांचा और सेवा उपलब्ध कराने के लिए भी जरूरी है जिसे यूनेस्को से विश्व धरोहर स्थल घोषित किया जाना प्रस्तावित है।’’

विशेषकर कविगुरु मार्केट का जिक्र करते हुए कार्यवाहक रजिस्ट्रार ने कहा कि विश्वविद्यालय अनधिकृत दुकानदारों के पुनर्वास के लिए पहले ही अपनी सहमति दे चुका है।

विश्वविद्यालय को पहले भी फेरीवालों को हटाकर विश्वविद्यालय की जमीन हासिल करने और पौष मेला मैदान में दुकानदारों को आने से रोकने के लिए उसकी बाड़बंदी करवाने के कारण आश्रम, छात्रों और संकाय सदस्यों के एक वर्ग की नाराजगी झेलनी पड़ी थी।