अखरोट स्वस्थ वसा, फाइबर, विटामिन और खनिज प्रदान करते हैं. अखरोट ज्ञान, बुद्धि का प्रतीक है और इसका आकार भी दिमाग से मिलता जुलता है. अखरोट की भूसी और पत्तियां कड़वी होती हैं और इसलिए इसे कृमि संक्रमण के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. इसकी पत्तियों में रेचक, कसैले और डिटर्जेंट गुण होते हैं जिनका उपयोग एक्जिमा, पेट का दर्द, त्वचा के घाव, बुखार और ठंड लगना, दांत दर्द और क्षय जैसे त्वचा रोगों के इलाज के लिए किया जा सकता है. आइए जानते है अखरोट खानें के कुछ लाभ.

यह भी पढ़ें: National Nutrition Week: जानें शरीर में पोषण की कमी के नुकसान और क्या है इसके संकेत

पाचन शक्ति होती है बेहतर

अखरोट फाइबर से भरपूर होता है, जो आपकी पाचन प्रणाली को दुरुस्त रखता है. पेट सही रखने और कब्ज से बचने के लिए फाइबर युक्त चीजें खानी जरूरी है. ऐसे में अगर आप रोजाना अखरोट का सेवन करते हैं, तो आपका पेट भी सही रहेगा और कब्ज भी नहीं होगा. भीगे हुए अखरोट को पचाना भी आसान हो जाता है.

हड्डियों के लिए

अखरोट में कई मिनरल्स होते हैं जो आपकी हड्डियों के लिए जरूरी होते हैं. अखरोट में कॉपर मिनरल भरपूर मात्रा में होता है, जो बोन मिनरल डेनसिटी के लिए अच्छा माना जाता है. अखरोट में मैंगनीज की अच्छी मात्रा होती है, जो Osteoporosis को रोकती है. इस कंडीशन में हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और फ्रैक्चर का खतरा रहता है. अखरोट में मैग्नी​शियम की भी अच्छी मात्रा होती है, ये भी आपकी हड्डियों के लिए जरूरी है.

यह भी पढ़ें: लेमनग्रास के फायदे सुन हैरान रह जाएंगे आप,कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाता है

ब्रेन हेल्थ

अखरोट में कई ऐसे तत्व होते हैं, जो आपकी ब्रेन हेल्थ के लिए जरूरी हैं. एक एनिमल स्टडी के मुताबिक, अखरोट में पॉलीअनसैचुरेटेड फैट और पॉलिफेनोल्स होते हैं, जो ब्रेन में ऑक्सीडेटव डैमेज को कम करते हैं. हालांकि वयस्कों में इसके फायदों पर कोई लॉन्ग टर्म स्टडी नहीं हुई है, लेकिन observational studies के मुताबिक, जो बुजुर्ग रोजाना अखरोट खाते हैं, उनकी ब्रेन फंक्शन अच्छा होता है और उन मेमोरी भी अच्छी होती है.

हार्ट हेल्थ के लिए

शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल के बढ़ने से कई तरह के हृदय रोगों का खतरा रहता है. अगर आप रोजाना मुट्ठी भर अखरोट खाते हैं, तो इससे बैड कोलेस्ट्रॉल और टोटल कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है. 194 वयस्कों पर की गई एक स्टडी के मुताबिक, जिन लोगों ने 8 हफ्तों तक रोजाना 43 ग्राम अखरोट खाया. उनका बैड कोलेस्ट्रॉल और टोटल कोलेस्ट्रॉल लेवल 5 प्रतिशत तक घटा.

यह भी पढ़ें: अंडे के छिलकों को फेकने से पहले जान लें ये फायदे, पहले नहीं सुना होगा

वजन घटाने का समर्थन कर सकते हैं

यह प्रदर्शित करने के लिए कुछ सबूत हैं कि अन्य खाद्य पदार्थों के स्थान पर अखरोट का सेवन करने से वजन नहीं बढ़ता है, भले ही वे ऊर्जा से भरपूर हों, जो अपने वजन को प्रबंधित करने की चाहत रखने वालों के लिए एक बढ़िया स्नैक विकल्प प्रदान करते हैं.

डायबिटीज का खतरा करता है कम

ब्लड शुगर और डायबिटीज से बचना चाहते हैं, तो भीगे हुए अखरोट का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है. बहुत सी स्टडीज में यह बात सामने आयी है कि जो लोग रोजाना 2 से 3 चम्मच अखरोट का सेवन करते हैं, उनमें टाइप-2 डायबिटीज होने का खतरा कम हो जाता है. अखरोट ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है जिससे डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है.

यह भी पढ़ें: मच्छर काटने की वजह जान हैरान हो जाएंगे आप, जानें कैसे करें सही इलाज

डिस्क्लेमर: खबरों में दी गई टिप्स एक सामान्य जानकारी है. आप इसका इस्तेमाल करने से पहले विशेषज्ञों की सलाह ले सकते हैं.