उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कोरोना वायरस की वैक्सीन के विरोध के बाद इसपर 'यू टर्न' ले लिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के एक दिन बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा है कि हम भी लगवाएंगे टीका. अखिलेश ने कहा कि वह बीजेपी के टीके के खिलाफ थे, वह केंद्र सरकार का टीका लगवाएंगे.  

ये भी पढ़ें: मुफ्त कोरोना वैक्सीन को लेकर क्या-क्या बोले पीएम मोदी, सब जानें

अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, "जनाक्रोश को देखते हुए आख़िरकार सरकार ने कोरोना के टीके के राजनीतिकरण की जगह ये घोषणा करी कि वो टीके लगवाएगी. हम भाजपा के टीके के ख़िलाफ़ थे पर ‘भारत सरकार’ के टीके का स्वागत करते हुए हम भी टीका लगवाएंगे व टीके की कमी से जो लोग लगवा नहीं सके थे उनसे भी लगवाने की अपील करते हैं."

बता दें कि जब देश में टीकाकरण की शुरुआत हुई थी तब अखिलेश यादव का बयान आया था कि उनको बीजेपी की वैक्सीन पर भरोसा नहीं है. ऐसे में अखिलेश यादव के साथ समाजवादी पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने भी वैक्सीन का बहिष्कार किया था. 

ये भी पढ़ें: 'मुफ्त वैक्सीन' के ऐलान के बाद विपक्ष के निशाने पर आए पीएम मोदी

मुलायम सिंह ने लगवाया टीका 

ये भी जान लें कि एक दिन पहले ही अखिलेश यादव के पिता व समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने वैक्सीन लगवाई थी. इसके बाद कई बीजेपी नेताओं ने अखिलेश के 'बीजेपी के टीके' वाले बयान को याद दिलाते हुए तंज कसा था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 जून को राष्ट्र के नाम संबोधन में सभी देशवाशियों के लिए मुफ्त टीके का ऐलान किया था. केंद्र सरकार ने वैक्सीन निर्माताओं से 75 प्रतिशत वैक्सीन खरीदकर राज्यों को इस मुफ्त में देने का ऐलान किया. पीएम ने अपनी घोषणा में कहा था कि अब राज्यों को वैक्सीन पर एक भी रुपये खर्च नहीं करना होगा, सरकार राज्यों को वैक्सीन मुफ्त में देगी. हालांकि देश में बन रही वैक्सीन में से 25% निजी क्षेत्र के अस्पताल सीधे ले पाएं ये व्यवस्था जारी रहेगी.

ये भी पढ़ें: प्राइवेट अस्पताल वैक्सीन पर 150 से ज्यादा सर्विस चार्ज नहीं ले सकते: पीएम मोदी