भोपाल, 26 मई (भाषा) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कहा कि कोरोना संक्रमण अब प्रदेश में नियंत्रण की स्थिति में है, इसलिए एक जून से राज्य में धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियाँ खोली जाएंगी, लेकिन, भीड़ इकट्ठी नहीं हो पाए इसलिए धारा 144 लगी रहेगी।

चौहान ने प्रदेशवासियों के नाम जारी संदेश में कहा, ‘‘आज मुझे यह बताते हुए संतोष है कि सबके प्रयासों से कोरोना संक्रमण अब प्रदेश में नियंत्रण की स्थिति में है। कल मंगलवार को 70,000 से अधिक कोरोना जांच हुए। जिनमें से पॉजिटिव केस केवल 2,189 आए और 7,846 व्यक्ति स्वस्थ हुए। संक्रमण दर घटकर 3.1 प्रतिशत रह गया है जबकि संक्रमण मुक्त होने की दर 93.39 प्रतिशत है।’’

चौहान ने कहा, ‘‘कोरोना कर्फ्यू अभी लागू है, पर यह अनंत काल तक लागू नहीं रह सकता। हमने तय किया है कि एक जून से धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियाँ खोलेंगे। कोरोना का वायरस रहेगा। अत: अभी पूरी सावधानी से गतिविधियों का संचालन आवश्यक है। भीड़, मेले, ठेलों आयोजनों से अभी बचना होगा। यदि हमने यह नहीं किया तो संक्रमण को बढ़ने में देर नहीं लगेगी और हम पुन: संकट में फंस जाएंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना कर्फ्यू धीरे-धीरे खोला जाएगा। कौन सी गतिविधि कब आरंभ होगी, क्या खुला रहेगा, क्या बन्द रहेगा, यह ग्राम, वार्ड, ब्लाक, नगर और जिला स्तर की आपदा प्रबंधन समितियां तय करेगी।’’

उन्होंने कहा कि अलग-अलग जिलों में स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार अलग-अलग व्यवस्थाएँ होंगी और यह भी स्थानीय स्तर पर ही तय होगा।

चौहान ने कहा, ‘‘भीड़ इकट्ठी नहीं हो पाए इसलिए धारा 144 लगी रहेगी। इसके साथ-साथ कोरोना जांच भी जारी रहेंगे। लगभग 75,000 जांच प्रतिदिन किए जाएंगे। फीवर क्लीनिक चलते रहेंगे, मोबाइल जांच दल भी कार्य करेगी। जांच का यह लाभ होगा कि यदि कोई संक्रमित है तो उसका तत्काल पता चल जाएगा। संक्रमित को घर में पृथक-वास में, मेडिकल किट देकर अथवा कोविड देखभाल केन्द्रर में उसके रहने की व्यवस्था की जाएगी। इससे संक्रमण नहीं फैलेगा। कोविड देखभाल केन्द्रर अभी बन्द नहीं होंगे।’’