दुर्गा पूजा का त्योहार इस साल अक्टूबर महीने में मनाया जाने वाला है. इसके लिए कई राज्यों में तैयारियां भी शुरू हो चुकी है. पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा धूम-धाम से मनाया जाता है और ये पूजा यहां के लिए काफी महत्वपूर्ण है. वहीं, दुर्गा पूजा को देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार ने पूजा समितियों के लिए कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं की है. इसके तहत पूजा समितियों (Puja Committee) को बिजली शुल्क में छूट दिया जाएगा. वहीं, सभी समितियों को अनुदान राशि भी दी जाएगी.

इस बारे में राज्य के मुख्य सचिव का कहना है कि पश्चिम बंगाल सरकार ने इस साल पूजा समितियों को 50,000 रुपये देने का फैसला किया है. वहीं, पूजा कमेटियों को बिजली शुल्क में 50 फीसदी की छूट भी दी जाएगी.

यह भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल गिरफ्तार, भेजे गए न्यायिक हिरासत में

इसके साथ ही घोषणा की कि सभी पूजा कमेटियों को कोरोना प्रोटोकॉल के नियम का पालन करना होगा और सभी को मास्क पहनना अनिवार्य होगा. सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि दुर्गा पूजा विश्व का सबसे बड़ी पूजा है और यूनेस्कों से intangible culture and humanity global festival की मान्यता देने की अपील की है. इसके साथ ही इस अवसर पर ममता बनर्जी ने दुर्गा पाठ किया और शांति के लिए प्रार्थना की.

यह भी पढ़ेंः प्रबुद्ध सम्मलेन में मायावती ने मोहन भागवत पर बोला हमला, ब्राह्मण समाज के लिए बहुत बातें कहीं

गौरतलब है कि कोलकाता में विश्व स्तर पर दुर्गा पूजा की जाती है. लेकिन कोरोना महामारी पिछले दो सालों से महोत्सव में अर्चन पैदा कर रही है. ऐसे में कई एहतियात फैसले लिए जा रहे हैं. इसके तहत अक्टूबर में चार दिन तक चलने वाले इस महोत्सव के लिए पुजारियों, ढाकियों या ढोल वादकों तथा अन्य सभी को टीकाकरण कराना अनिवार्य होगा.

सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि, कोलकाता में 2500 और पश्चिम बंगाल में लगभग 36000 पूजा होती है. किसी को कोई असुविधा नहीं होगी. उन्होंने कहा कि तीसरा वेब नहीं आए, तो रात को पूजा घूमने के बारे में बाद में निर्णय किया जाएगा. इस वर्ष पूजा कॉर्निवल होगा या नहीं इस बारे में बाद में फैसला किया जाएगा. उन्होंने कहा कि पूजा के दौरान सामाजिक सुरक्षा योजना को सामने लाने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि कोलकाता सिंगल विंडो सिस्टम का पालन करना होगा.

यह भी पढ़ें: तालिबान-RSS वाले बयान पर BJP-शिवसेना के निशाने पर आए जावेद अख्तर, घर के बाहर सुरक्षा बढ़ाई गई