इस साल रक्षाबंधन 22 अगस्त 2021 को मनाया जाएगा. रक्षाबंधन का ये त्यौहार भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है. रक्षाबंधन का त्यौहार श्राव मास की पूर्णिमा की तारीख को मनाया जाता है. लेकिन इस साल रक्षाबंधन के दिन महासंयोग बनने जा रहा है जो सैकड़ों वर्षों बाद होने वाला है. इस साल गज केसरी योग बनने जा रहा है. जो काफी शुभ माना जाता है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली में कई तरह के योग होते हैं इसमें एक गज केसरी योग होता है. इसमें गज का अर्थ हाथी और केसरी का अर्थ सोना या सिंह होता है. इस योग को काफी शुभ माना गया है. इस योग से कुंडली में बनने से व्यक्ति को जीवन में ऊंचाइयां मिलती है. धन संबंधी परेशानियां दूर होती है. कुंडली में गुरु और चंद्रमा के मजबूत होने से गज केसरी योग बनता है.

यह भी पढ़ेंः Rakshabandhan 2021: इस रक्षाबंधन है अद्भुत संयोग, जानें राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

राखी पर इस बार भद्रा का साया भी नहीं रहेगा जिसके कारण बहनें पूरे दिन भाई को राखी बांध सकेंगी. इस दौरान कुंभ राशि में गुरु की चाल वक्री रहेगी और इसके अलावा चंद्रमा भी मौजूद रहेगा.

यह भी पढ़ेंः Raksha Bandhan 2021: कब और क्यों मनाया जाता है रक्षाबंधन?

गुरु और चंद्रमा की उपस्थिति के चलते रक्षा बंधन पर गजकेसरी योग बनने जा रहा है. इस योग में व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है. गज केसरी योग से राजसी सुख और समाज में मान-सम्मान की भी प्राप्ति होती है. आपको बता दें कि कुंडली में जब चंद्रमा और गुरु बीच में एक दूसरे की तरफ दृष्टि कर बैठे हों तो गज केसरी योग बनता है.

#Rakshabandhan #Festival #Religious