संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल 12 सितंबर को राष्ट्रीय ग्रैंडपैरेंट्स डे (Grandparents' Day) के रूप में मनाया जाता है. जैसा कि नाम से पता चलता है, यह दिन दादा-दादी और पोते-पोतियों के बीच के खूबसूरत बंधन का जश्न मनाता है और परिवार के वरिष्ठ सदस्यों के प्रति संवेदनशीलता बढ़ाने के लिए है. ग्रैंडपैरेंट्स का प्यार हमेशा निःस्वार्थ रहा है और अपने बच्चों को उपहारों और स्वादिष्ट मिठाइयों के साथ जीवन भर प्यार देते हैं. यह दिन हमारे लिए उन्हें बधाई देकर और उपहार देकर उनके प्यार के लिए आभार व्यक्त करने का अवसर है.

यह भी पढ़ेंः कौन थे पॉल वॉकर? सड़क हादसे में हुई थी दर्दनाक मौत

ग्रैंडपैरेंट्स डे का इतिहास

परंपरागत रूप से, राष्ट्रीय ग्रैंडपैरेंट्स डे अमेरिका और कनाडा में मजदूर दिवस के बाद पहले रविवार को मनाया जाता है.  इस दिन की शुरुआत जमीनी स्तर पर वेस्ट वर्जिनियन मैरियन ल्यूसिल हेरंडन मैकक्वाडे और उनके पति एल. मैकक्वाडे ने की थी. उनके 15 बच्चे, 43 पोते, 10 परपोते और एक परपोते थे.

मैकक्वैड दादा-दादी के लिए एक ऐसा दिन चाहती थीं जो आगे चलकर एक पारिवारिक दिन बन सके और इस प्रकार, उन्होंने 1978 में अमेरिकी सीनेट को ग्रैंडपैरेंट्स के लिए एक विशेष दिन घोषित करने के लिए प्रोत्साहित किया.

यह भी पढ़ेंः अमिताभ ने शेयर की 'Legends in one Frame' वाली तस्वीर, बोले- 'अब ऐसे जमघट कहां'

दादा दादी दिवस के बारे में मजेदार तथ्य

1- अमेरिका में ग्रैंडपैरेंट्स को ग्रैंडमा- ग्रैंडपा कहा जाता है. इटली में, इसे नोना और नोनो और जर्मनी ओमा और ओपा कहा जाता है, जबकि लैटिन अमेरिका और स्पेन में दादा-दादी के लिए पारंपरिक नाम अबुएला और अबुएलो हैं.

2- बता दें, ओपरा विनफ्रे, राष्ट्रपति बराक ओबामा और बिल क्लिंटन, अभिनेता जैक निकोलसन, गायक विली नेल्सन, कैरल बर्नेट और कवि माया एंजेलो जैसी प्रसिद्ध हस्तियों को उनके ग्रैंडपैरेंट्स ने ही पाला था.

3- अमेरिका में 20 लाख से ज्यादा ग्रैंडपैरेंट्स घर के मुखिया का काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः भारत का अफगानिस्तान से है हजारों साल पुराना रिश्ता, इतिहास है गवाह

#family #UnitedStates #culture