कोरोना वायरस महामारी के समय असमय पैसों की जरूरत होती है. वहीं, इस वक्त नौकरी प्रभावित होने से भी परेशानियां बढ़ रही है. ऐसे में आपको अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए पहले से तैयारी करनी जरूरी है. वहीं, मौजूदा समय में हर महीने की आय भी जरूरी है. अगर आप लंबे समय के निवेश के लिए फिक्स डिपॉजिट (FD) ले सकते हैं. वहीं, आप FD लेने जा रहे तो आप सेविंग्स के साथ हर महीने इनकम भी बढ़ाना चाहते हैं तो ये सुविधा भी ले सकते हैं. देश में ऐसे कई बैंक हैं जो फिक्स डिपॉजिट योजना के जरिए हर महीने इनकम की सुविधा भी देती है. इससे हर महीने आपको एक निश्चित राशि मिलती है.

यह भी पढ़ेंः PPF अकाउंट से कब और कैसे कर सकते हैं निकासी, जान लें

मंथली इनकम फिक्स डिपॉजिट (Monthly Income FD) एक सुविधा है जिसके जरिए आप महीने में अतिरिक्त पैसे कमा सकते हैं. इससे आपको बड़ा फायदा हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः 30 जून तक नहीं किया ये काम तो बेकार हो जाएगा आपका PAN कार्ड, लगेगा जुर्माना

क्या है मंथली इनकम FD?

- यह सामान्य FD की तरह है लेकिन इसमें इंट्रेस्ट क्रेडिट किए जाने का अलग प्रावधान है.

- सामान्य तौर पर FD का पैसा मैच्योरिटी होने पर मिलता है लेकिन कई बैंक इसे मंथली देते हैं. इसके साथ क्वाटरली और छमाही भी देते हैं.

यह भी पढ़ेंः भारत दुनिया का तीसरा अरबपतियों वाला देश, मुकेश अंबानी ने जैक मा को पीछे छोड़ा

यह भी पढ़ेंः लोन लेने में आ रही है दिक्कत, तो इन तरीकों को जान लें

- हालांकि, कुछ बैंक मंथली FD के लिए अलग से योजना देती है.

- मंथली इनकम FD का ब्याज हर महीने आपके सेविंग अकाउंट में बैंक भेजती है.

- इस तरह की FD पर लोन, ओवरड्राफ्ट जैसी सुविधा दी जाती है.

हालांकि, कुछ बैंक मंथली इनकम का विकल्प लेने पर FD का क्रेडिट होने वाला ब्याज सिंपल इंट्ररेस्ट से कम होता है.

यह भी पढ़ेंः EPFO KYC डिटेल अपडेट करने से मिलते हैं ये फायदे, फॉलो करें ऑनलाइन स्टेप्स

आपको बता दें, इस तरह की FD की सुविधा SBI, कोटक महिंद्रा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, आईसीआईसीआई बैंक, IDFC बैंक देती है. हालांकि, इन बैंकों में कुछ में मंथली, कुछ में क्वाटरली और कुछ में छमाही ब्याज देने की सुविधा है.

यह भी पढेंः क्या 1 जून से आपको ATM से पैसे निकालने के लिए देने होंगे 173 रुपये?

यह भी पढ़ेंः Bank Holidays 2021: जून में बैंकों में रहेंगी 9 दिन छुट्टियां, देखें लिस्ट

यह भी पढ़ेंः Fixed Deposit में सिर्फ ब्याज नहीं देखें, मिलते हैं ये 5 फायदे