मेट गाला, जिसे औपचारिक रूप से 'कॉस्ट्यूम इंस्टीट्यूट गाला' या 'कॉस्ट्यूम इंस्टीट्यूट बेनिफिट' कहा जाता है और जिसे मेट बॉल के रूप में भी जाना जाता है, न्यूयॉर्क शहर में मेट्रोपॉलिटन म्यूज़ियम ऑफ़ आर्ट के कॉस्ट्यूम इंस्टीट्यूट के लिए एक सालाना फ़ंड रेजर इवेंट है. यह कॉस्टयूम संस्थान की सालाना फैशन प्रदर्शनी के उद्घाटन का प्रतीक है. हर साल का इवेंट उस साल के Costume Institute exhibition के थीम पर आधारित होता है और प्रदर्शनी रात की औपचारिक ड्रेस थीम के हिसाब से ही तय होती है. मेहमानों से प्रदर्शनी के थीम पर आधारित फैशन का ही चयन करने की उम्मीद की जाती है.

निक जोनस को प्रियंका चोपड़ा की कौन सी फिल्म पसंद है? जानें क्या बोले देसी गर्ल के पति

इसकी शुरुआत 1946 में हुई थी. इस गाला से जो फंड इकट्ठा होता है वो कॉस्ट्यूम इंस्टीट्यूट के लिए इस्तेमाल होता है. इस गाला का हर साल एक नया थीम होता है, जिसके हिसाब से सेलेब्रिटीज ड्रेस चुनते हैं.

गाला को व्यापक रूप से दुनिया की सबसे प्रमुख और सबसे ख़ास सोशल इवेंट में से एक है. यह न्यूयॉर्क शहर में सबसे बड़ी फंड रजर रात होती है,. 2013 मेट गाला में 9 मिलियन डॉलर जुटाए गए और अगले साल 12 मिलियन डॉलर का फंड रेज करने का रिकॉर्ड बना था.

मेट गाला देखकर अक्सर हम लोग यही सोचते हैं कि आखिर ये सेलेब्रिटीज ऐसे कपड़े क्यों पहनते हैं, तो इसकी भी एक बड़ी वजह है. मेट गाला में हर साल एक थीम के हिसाब से ही कपड़े पहने जाते हैं. मेट गाला में अलग कपड़े पहनने की एक बड़ी वजह ये भी होती है कि जो चीज हटकर होती है, उस पर लोगों की नजर पहले पड़ती है. अगर कोई सेलेब्रिटी किसी ब्रांड की तरफ से इनवाइट है तो उसे उस ब्रांड के ही कपड़े पहनने होते हैं

करीना कपूर खान ने तोड़ी सीता के रोल पर चुप्पी, ट्रोलर्स को दिया करारा जवाब

मेट गाला की टिकट के लिए करीब $30,000 (यानी 20 लाख 11 हज़ार रुपए) का खर्च आता है और इसी इवेंट में टेबल बुक करवाने के लिए 2 लाख 75 हज़ार डॉलर यानी लगभग पौने दो करोड़ रुपये का खर्चा आएगा. जितना भी पैसा टिकट बेचने से इकट्ठा होता है वो कॉस्ट्यूम इंस्टिट्यूट को चला जाता है. फैशन जगत को आर्ट की तरह लेने वाले Met संगठन का ये एकलौता ऐसा इंस्टिट्यूट है जिसे फंड्स खुद के लिए इकट्ठा करने होते हैं.

अक्षरा सिंह ने बीते दिनों को किया याद, बोलीं- तेजाब की बोतल लेकर पीछे पड़े थे लोग