महाराष्ट्र में लगातार कोरोना वायरस के नए मामलों की तेजी से बढ़ोतरी के बाद राज्य में लॉकडाउन जैसी सख्ती का ऐलान किया गया है. इस दौरान कई सेवाएं बंद रहेंगी. वहीं, कर्मचारियों को भी अब घर से ही काम करना होगा. अगर आप बाजार निकल रहे हैं या बाहर निकलने की सोच रहे हैं तो पहले सरकार की घोषणाओं को जान लें. वरना आपको परेशानी हो सकती है. क्योंकि नियमों के उल्लंघन पर आपको जुर्माना भी देना हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः कौन है फखर जमां? दक्षिण अफ्रीक के खिलाफ 193 रनों की पारी हो गई बेकार

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने रविवार को कहा कि बैंकिंग और बीमा क्षेत्र के कार्यालयों को छोड़कर निजी कार्यालय सोमवार रात से बंद रहेंगे जब सख्त पाबंदियां लागू होंगी.

उन्होंने कहा कि अन्य निजी कार्यालयों के कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति होगी.

यह भी पढ़ेंः मात्र 9 रुपये में पाएं LPG गैस सिलेंडर, फटाफट उठाएं मौके का फायदा, जानें कैसे?

मंत्री ने कहा कि सरकारी कार्यालय अपनी क्षमता के 50 प्रतिशत के साथ काम करेंगे और बाकी कर्मचारी घर से काम करेंगे, सिवाय महामारी प्रबंधन से संबंधित आवश्यक सेवाओं के कर्मचारियों को छोड़कर (जिन्हें काम के लिए जाना होगा).'

राज्य सरकार ने रविवार को कोविड-19 मामलों में भारी बढ़ोतरी पर रोक लगाने के लिए शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक राज्य में सप्ताहांत लॉकडाउन की घोषणा की.

यह भी पढ़ेंः क्या EPFO पर नौकरी छोड़ने की तारीख अपडेट करने में आ रही है दिक्कत? इन आसान स्टेप्स में समझें

सप्ताहांत लॉकडाउन के अलावा, सोमवार रात 8 बजे से सख्त पाबंदियां लागू होंगी, जिसके तहत शॉपिंग मॉल, बार, रेस्तरां, छोटी दुकानें केवल टेक-अवे और पार्सल के लिए खुली रहेंगी.

टोपे ने कहा कि राज्य में सैलून और ब्यूटी पार्लर भी बंद रहेंगे. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक परिवहन पाबंदियों के साथ चालू रहेगा और ऑटोरिक्शा और टैक्सी सीमित संख्या में यात्रियों के साथ चलेंगी.

टोपे ने कहा कि उल्लंघनकर्ताओं को 500 रुपये का जुर्माना देना होगा.

यह भी पढ़ेंः भारत में 18 सितंबर के बाद पहली बार Covid-19 के 93,249 नए मामले सामने आए

(इनपुट पीटीआई से)