पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कहा कि मैच जिताऊ प्रदर्शन के मामले में कप्तान विराट कोहली पिछले 10 वर्षों में भारत के सबसे प्रभावशाली खिलाड़ी रहे हैं. वहीं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन ने एमएस धोनी को इस दशक का सबसे प्रभावी खिलाड़ी बताया है. 

भारत के लिए 2008 में पदार्पण करने वाले कोहली पिछले एक दशक में सभी प्रारूपों में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बन कर उभरे है. उन्होंने हाल में महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकार को पीछे छोड़ते हुए एकदिवसीय में सबसे तेजी से 12,000 रन पूरे करने का रिकार्ड अपने नाम किया.

गावस्कर ने ‘स्टार स्पोर्ट्स’ के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि अगर आप व्यक्तिगत प्रदर्शन को देखते है तो निश्चित रूप से वह विराट कोहली होंगे. रनों का पीछा करते हुए उनके प्रदर्शन के दम पर भारतीय टीम ने बहुत सारे मैच जीते है.’’

गावस्कर ने कहा, ‘‘ मैं सिर्फ रन और विकटों की संख्या की जगह खिलाड़ी के प्रभाव को देखता हूं और इस मामले में आपको मानना होगा कि यह दशक विराट कोहली का है . भारतीय टीम के द्वारा जीते गये मैचों पर उनका प्रभाव बहुत ज्यादा रहा है.’’

गावस्कर के विचार से हालांकि ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन इत्तेफाक नहीं रखते, जिनका मानना है कि महेन्द्र सिंह धोनी इस दशक के सबसे अधिक प्रभाव वाले भारतीय खिलाड़ी है.

धोनी ने इस साल अगस्त में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था. हेडन ने कहा, ‘‘ यह काफी महत्वपूर्ण और अहम है कि धोनी ने विश्व कप और चैम्पियंस ट्राफी का खिताब जीता. मेरे लिए विश्व कप का खिताब मील के पत्थर की तरह है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ जब बात विश्व कप की आती है तो आपको अच्छा कप्तान के साथ मध्यक्रम में शांत और दमदार खिलाड़ी भी चाहिये जो खूबी उनमें थी.’’