क्रिकेट में ही नहीं बल्कि सभी खेलों में एक टीम को सफल होने के लिए एक बेहतर नेतृत्व की जरूरत होती है. भारतीय क्रिकेट टीम को भी कई बेहतरीन कप्तान नसीब हुए. कपिल देव से लेकर विराट कोहली तक, टीम इंडिया को कई ऐसे कप्तान मिले जिन्होंने भारत में क्रिकेट को नेक्स्ट लेवल तक पहुंचा दिया. जब टीम इंडिया के कुछ सबसे सफल कप्तानों का नाम लिया जाता है तो महेंद्र सिंह धोनी और सौरव गांगुली का नाम सबसे ऊपर आता है. भारत के पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने बताया है कि उनके हिसाब से दादा और माही में से बेस्ट कप्तान कौन था. 

यह भी पढ़ें: जब इंग्लैंड दौरे पर सहवाग को पड़ा था थप्पड़, गांगुली हो गए थे आग बबूला

सहवाग के अनुसार दादा थे बेहतर कप्तान

सहवाग ने आर जे रौनक के यूट्यूब शो 13 जवाब नहीं पर बात करते हुए कहा, "मेरे हिसाब से कप्तानी कि लिहाज से दोनों ही काफी शानदार थे, लेकिन मेरे अनुसार गांगुली ज्यादा बेहतर कप्तान थे. उन्होंने एक नई टीम को बनाया था, उन्होंने नए खिलाड़ियों का चयन किया और एक यूनिट को दोबारा बनाया. गांगुली ने ही टीम इंडिया को सिखाया की विदेशी धरती पर कैसे जीता जाता है."

यह भी पढ़ें: जेम्स एंडरसन की इस तस्वीर को देखकर उनसे नफरत करने वाला भी फैन बन जाए

टीम इंडिया के दो सबसे सफल कप्तान हैं माही और दादा

सौरव गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी दोनों की कप्तानी में टीम इंडिया का प्रदर्शन लाजवाब रहा. एक तरफ जहां गांगुली ने टीम इंडिया को 2003 आईसीसी वनडे विश्व कप के फाइनल में पहुंचाया, वहीं धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत के लिए तीन आईसीसी खिताब जीते. हालांकि जब भी बड़े टूर्नामेंटों में सफलता की करें तो धोनी सभी भारतीय कप्तानों में सबसे ऊपर है.

बता दें वीरेंद्र सहवाग ने भारत के लिए कुल 104 टेस्ट मैचों में 8586 रन बनाए हैं, जिसमें 23 टेस्ट शतक और 32 अर्धशतक भी शामिल हैं. वहीं 251 वनडे अंतरराष्ट्रीय में सहवाग ने 8273 रन बनाए हैं. जिसमें 15 सेंचुरी और 38 हाफसेंचुरी शामिल हैं. वीरेंद्र सहवाग से साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था.

यह भी पढ़ें: अमिताभ बच्चन और सौरभ गांगुली के सामने वीरेंद्र सहवाग ने पाकिस्तान को ये क्या कह दिया