हर साल मई महीने के पहले रविवार को 'Laughter Day' मनाया जाता है. यह इस बात का संकेत देता है कि आज भले ही हास्य यानी लाफ्टर ने योग और चिकित्सा के साथ हाथ मिला लिया हो लेकिन इसकी एहमियत हमारे जीवन में हमेशा रहेगी. अब इसे अपनाने का तरीका कैसा भी हो और इस साल आज यानी 2 मई को Laughter Day मनाया जा रहा है. मगर यह क्यों मनाया जाता है और हंसने के क्या फायदे होते हैं इसके बारे में भी हम आपको बताएंगे.

यह भी पढ़ें- दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार अस्पताल मे भर्ती, सायरा बानो ने बताया कैसी है तबीयत?

क्यों मनाया जाता है Laughter Day?

Laughter Day की शुरुआत साल 1998 में हुई थी, जिसको अमल में लाने का सबसे बड़ा क्रेडिट योग आंदोलन के संस्थापक डॉ. मदन कटारिया को दिया गया. 11 जनवरी, 1998 को डॉ. कटारिया ने मुंबई में पहली बार विश्व हास्य दिवस मनाया था और इसे मनाने के पीछे का उद्देश्य समाज के बढ़ते तनाव को कम करने के लिए था. तब से हर साल मई के पहले रविवार को हास्य दिवस यानी Laughter Day मनाया जाने लगा. हंसने से तन और मन में उत्साह का संचार होता है और दिल से हंसना किसी दवा से कम नहीं माना गया है. यह एक बेहतरीन टॉनिक है जिसे हर किसी को लेना चाहिए. आज अलग-अलग जगह हास्य क्लब बनाए जा रहे हैं जिससे लोगों को अपनी भागदौड़ भरी जिंदगी से कुछ पल का आराम मिले.

यह भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल 2021 विधानसभा चुनाव का जादुई आंकड़ा क्या है? कहां खड़ी है TMC-BJP

हंसने के जबरदस्त फायदे

1.बातचीत करते समय हम जितनी ऑक्सीजन लेते हैं उससे 6 गुना ज्यादा ऑक्सीजन हंसते समय लेते हैं. इस तरह शरीर को अच्छी मात्रा में ऑक्सीजन मिलती है.

2. मनोवैज्ञानिक भी तनाव से ग्रसित लोगों को हंसने की सलाह देता है. मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक, जब आप मुस्कुराते हैं तो आपका मस्तिष्क अपने आप सोचने लगता है कि आप खुश हैं.

3. जब भी आप हंसते हैं तो शरीर में रक्त का संचार तीव्र हो जाता है. तनाव में हंसने की क्षमता हो तो दुख कम हो जाता है.

4. जब आपको गुस्सा आता है और उस समय अगर आप हंस देते हैं तो आपका गुस्सा खत्म हो सकता है.

5. हंसने से ब्लड प्रेशर के मरीजों की लेवल स्थिर रहता है, मांसपेशियों में खिचाव कम होता है साथ ही दर्द भी दूर होता है.

यह भी पढ़ें- भारत लौटने को लेकर अदार पूनावाला ने क्या कहा है, जानें 

यह भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल के रुझानों में TMC की 'Pawri', आगे क्या 'खेला होबे'?