अमेजन प्राइम पर आई वेब सीरीज ‘पाताल लोक’ लगातार किसी न किसी विवाद में फंसती रही. कभी उसपर नेपाली भावनाओं को आहत करने का इल्जाम लगा तो किसी ने उसे अपने धर्म का विरोधी बताया. बॉलीवुड एक्टर अनुष्का शर्मा ‘पाताल लोक’ की प्रोड्यूसर हैं. इस वेब सीरीज से जुड़े हर विवाद में लोगों ने अनुष्का को ही घसीटा. वेब सीरीज के चलते ही उत्तर प्रदेश के BJP विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने भी अनुष्का शर्मा से नाराजगी जताई और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कर दी. साथ ही नंदकिशोर गुर्जर ने क्रिकेटर विराट कोहली से मांग की कर दी थी कि वो अपनी पत्नी और ‘पाताल लोक’ की प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा को तलाक दे दें.

उत्तर प्रदेश की लोनी विधानसभा से विधायक नंदकिशोर का कहना था, ‘पाताल लोक’ में सनातन धर्म की जातियों एवं भारतीय एजेंसियों का गलत चित्रण  किया गया है, जोकि राष्ट्रद्रोह है. इसी को लेकर उन्होंने अनुष्का शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी और ये मांग भी की थी कि विराट को अपनी देशभक्ति दिखाते हुए अनुष्का को तलाक दे देना चाहिए. नंदकिशोर ने कहा था, "अनुष्का शर्मा ने राष्ट्रद्रोह का काम किया है. विराट कोहली देशभक्त हैं. वो देश के लिए खेले हैं. उन्हें अनुष्का को तलाक दे देना चाहिए ताकी समाज में एक अच्छा मैसेज जाए."

BJP विधायक ने अनुष्का के खिलाफ शिकायत में लिखा था, "बॉलीवुड अभिनेत्री एवं अमेजन प्राइम पर प्रसारित वेब सीरीज 'पाताललोक' की प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा ने वेब सीरीज में बालकृष्ण वाजपेयी नाम के अपराधियों से संबंध वाले नेता के साथ एक मार्ग का उद्घाटन करते हुए मेरी फोटो व अन्य भाजपा नेताओं को दिखाया गया है. मैं वर्तमान में भाजपा का विधायक हूं और मेरी अनुमति लिए बगैर मेरे तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है. इसके अलावा इस वेब सीरीज में गुर्जर जाति का चित्रण डकैत एवं गलत कार्यो में शामिल दिखाया गया हैं. सीरीज में भाजपा की छवि भी खराब करने की कोशिश की गई है."

वेब सीरीज में क्या है?

'पाताल लोक' के मुख्य किरदारों में से एक हाथी राम के मुताबिक दुनिया, एक नहीं तीन हैं. इसमें सबसे ऊपर है स्वर्ग लोक, जिसमें देवता रहते हैं. बीच में धरती लोक, जिसमें आदमी रहते हैं. और सबसे नीचे पाताल लोक, जिसमें कीड़े रहते हैं. इस वेब सीरीज में दिखाया गया है कि कैसे अमीर आदमी के मुकाबले एक गरीबो की जिंदगी मैटर नहीं करती. सीरीज में एक्शन, डायलॉग ऐसे रखे गए हैं, जैसा कि असल जिंदगी में होता है.

ये कहानी दिल्ली की है, जहां यमुना के पुल पर चार अपराधियों को पकड़ा जाता है. ये एक टॉप पत्रकार और न्यूज एंकर संजीव मेहरा के मर्डर की साजिश में शामिल थे. इस केस को इंस्पेक्टर हाथी राम चौधरी को दिया जाता है. हत्या की साजिश में पकड़े गए चार लोग देखने में भले ही आम से लगते हों लेकिन उनके पीछे का सच काफी खतरनाक और रोचक है. हाथी राम अपने आप को साबित करना चाहता है और इसी के चक्कर में वह इस केस में पूरी लगन से लग जाता है. बाद में उसे मालूम चलता है कि पुलिस के बड़े अफसर, नेता और जांच एजेंसी सब इस मर्डर साजिश का हिस्सा हैं.