कोलकाता, 28 अप्रैल (भाषा) कोरोना वायरस संक्रमण से जान गंवाने वाले तृणमूल कांग्रेस के एक उम्मीदवार की विधवा ने बुधवार को पुलिस में शिकायत देकर भारत निर्वाचन आयोग के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किये जाने की मांग की है ।

महिला ने आरोप लगाया है कि आयोग के अधिकारी कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने में विफल रहे हैं और इसी वजह से उनके पति की मौत हुयी है ।

दिवंगत तृकां नेता की पत्नी नंदिता सिन्हा ने खरदाहा पुलिस थाने में दी अपनी शिकायत में दावा किया है कि उनके पति काजल सिन्हा 21 अप्रैल को कोरोना वायरस से संक्रमित हुये थे और 25 अप्रैल को उनका निधन हो गया ।

सिन्हा उत्तर 24 परगना जिले के खरदाहा विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार थे ।

नंदिता ने निर्वाचन उपायुक्त सुदीप जैन एवं अन्य अधिकारियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 269 एवं 270 तथा 304 के तहत मामला दर्ज किये जाने की मांग की ।

इससे पहले मद्रास उच्च न्यायालय ने सोमवार को कोविड—19 की दूसरे लहर के लिये निर्वाचन आयोग को फटकार लगाते हुये संक्रमण के प्रसार के लिये जिम्मेदार बताया था और इसे 'सबसे गैर जिम्मेदार संस्थान' करार दिया था । इसके बाद यह प्रकरण सामने आया है ।