टोक्यो ओलंपिक खेलों (Tokyo Olympics 2020) की शुरुआत 23 जुलाई से हो जाएगी. भारत को इस बार अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद है. मेडल की संख्या के मामले में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2012 के लंदन ओलंपिक में आया था, जब भारत ने दो सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज़ के साथ 6 मेडल जीते थे. इसके बाद 2016 में भारत को दो मेडल से ही संतोष करना पड़ा. इसमें से एक मेडल जीता था बैडमिंटन स्टार पुसर्ला वेंकट सिंधु (PV Sindhu) ने. सिंधु फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन से हार गईं थीं और उन्हें सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा था, इस बार वह अपने मेडल का रंग बदलकर उसे सुनहरा करना चाहेंगी.  

ये भी पढ़ेंः बैडमिंटन का ओलंपिक इतिहास, इस बार कितने मेडल जीत सकता है भारत

पीवी सिंधु, टोक्यो ओलंपिक में 25 जुलाई से अपने ओलंपिक अभियान का आगाज करेंगी. सिंधु का पहला मुकाबला इजराइल की केन्सिया पोलिकारपोवा से है. बता दें कि पीवी सिंधु टोक्यो ओलंपिक में छठी वरीय खिलाड़ी हैं. कैरोलिना मारिन ने टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया है, ऐसे में सिंधु गोल्ड जीतने की दावेदार हैं. हालांकि उन्हें चीनी ताइपे की ताई जू-यिंग और थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन से इसके लिए कड़ा मुकाबला करना होगा. 

ग्रुप स्टेज में सिंधु को पोलिकारपोवा के बाद हांगकांग की चेउंग नगन यी से मुकाबला करना होगा. दोनों ही खिलाड़ियों के खिलाफ सिंधु ने कोई मैच नहीं गंवाया है. हालांकि नॉकआउट में उन्हें कड़े मुकाबले मिलेंगे. बता दें कि सिंधु ने इस साल अभी तक कोई टूर्नामेंट नहीं जीता है. 

ये भी पढ़ें:ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन में होगा 2032 ओलंपिक खेलों का आयोजन

सिंधु का हालिया प्रदर्शन

* योनेक्स थाईलैंड ओपन (Yonex Thailand Open)- जनवरी 2021 में सिंधु अपने पहले ही मैच में  मिया ब्लिचफेल्ट (Mia Blichfeldt) से हार गईं. 

टोयोटा थाईलैंड ओपन (Toyota Thailand Open)- जनवरी 2021 में खेले गए इस टूर्नामेंट में सिंधु क्वार्टरफ़ाइनल तक पहुंची.

वर्ल्ड टूर फ़ाइनल (World Tour Finals)- राउंड-रॉबिन चरण में वह पहली बार ताई जू से भिड़ीं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा. उन्होंने एक और मुकाबला गंवाया, लेकिन एक में जीत भी दर्ज की. 

स्विस ओपन (Swiss Open)-  सिंधु ने 2 से 7 मार्च तक बासेल में खेले गए स्विस ओपन में अपना इस साल का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. सिंधु को सेमीफाइनल में थाईलैंड की खिलाड़ी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा. 

ऑल इंग्लैंड ओपन (All England Open)- यहां भी वह सेमीफाइनल में पहुंची. लेकिन थाईलैंड की खिलाड़ी पोर्नपावी चोचुवोंग से सीधे सेट्स में हार गईं.  

ये भी पढ़ें: टोक्यो ओलंपिक में खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर क्या होंने नियम?

ये भी पढ़ेंः टोक्यो ओलंपिक में किसी भी विजेता को नहीं पहनाया जाएगा मेडल