अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने बुधवार को कहा कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) का फाइनल 18 से 22 जून के बीच साउथैम्प्टन में हैंपशर बाउल में जैव सुरक्षित वातावरण में खेला जाएगा.

पहले फाइनल का आयोजन लार्ड्स में होने की संभावना थी लेकिन आईसीसी बोर्ड और इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने कोविड-19 के संभावित जोखिम को कम से कम करके इसका सुरक्षित आयोजन सुनिश्चित करने के लिये स्थान बदलने का फैसला किया.

आईसीसी ने बयान में कहा, ‘‘हैंपशर बाउल का चयन करने में आईसीसी ने 2020 की गर्मियों में जैव सुरक्षित वातावरण में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का आयोजन करने के ईसीबी के अनुभव का इस्तेमाल किया.’’ इसमें कहा गया है, ‘‘यह स्थल खेल और अभ्यास की विश्वस्तरीय सुविधाएं मुहैया कराता है और यहां दोनों टीमों को तैयारियों के लिये सर्वश्रेष्ठ संभावित माहौल मिलेगा. ’’

यह भी पढ़ेंः फिर टीम इंडिया में जगह बनाते-बनाते रह गए वरुण चक्रवर्ती, YoYo Test में फेल हुए, राहुल चाहर की खुली किस्मत

आईसीसी ने कहा, ‘‘अगर ब्रिटिश सरकार कोविड-19 लॉकडाउन में ढील को पूर्व योजना के अनुसार आगे बढ़ाती है तो फिर हैंपशर बाउल में फाइनल देखने के लिए सीमित संख्या में दर्शकों को अनुमति दी जा सकती है. ’’

न्यूजीलैंड फाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली टीम थी. भारत ने शनिवार को समाप्त हुई चार मैच की सीरीज में इंग्लैंड को 3-1 से हराकर फाइनल में जगह बनायी थी.

यह भी पढ़ेंः जानें, बटलर ने क्यों टीम इंडिया को बताया T20 वर्ल्ड कप खिताब का प्रबल दावेदार

यह भी पढ़ेंः T20: इरफान पठान और मनप्रीत गोनी की धमाकेदार बल्लेबाजी, फिर भी IND से 6 रन से जीत गया ENG