नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) भारतीय तटरक्षक (आईसीजी) के तीन जहाज बुधवार सुबह चक्रवात यास के कहर के बाद 'स्थिति का आकलन' करने के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटों पर पहुंच रहे हैं। रक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

इसके अलावा, पश्चिम बंगाल सरकार के अनुरोध पर, आईसीजी ने सहायता के लिए दीघा और कोंटाई में अपनी आपदा राहत टीमें (डीआरटी) तैनात की हैं।

मंत्रालय ने कहा कि आईसीजी के एयर कुशन यान ने पश्चिम बंगाल के नयाचार में फंसे करीब 100 लोगों को भी बचाया।

उसने कहा, 'बचाव अभियान जारी है। डीआरटी (आईसीजी के) ने कोंटाई में स्थानीय लोगों को निकालने में भी मदद की। इन्फ्लेटेबल नौका और जीवनरक्षक जैकेट के साथ अन्य डीआरटी भी पश्चिम बंगाल और ओडिशा में तैयार खड़ी हैं और राज्य के प्रशासन की आवश्यकता के अनुसार तैनात किए जा रहे हैं।”

आईसीजी ने चिकित्सा टीमों और एम्बुलेंस को भी तैयार रखा है।

मंत्रालय ने कहा, 'तीन आईसीजी जहाज, जो संभावित खोज और बचाव अभियान के लिए समुद्र में रणनीतिक रूप से तैनात थे, तटीय स्थिति का आकलन करने के लिए ओडिशा और पश्चिम बंगाल तट पर पहुंच रहे हैं।'

भाषा कृष्ण अमित

अमित

अमित